/आरोग्य सेतु ऐप क्या है और यह कैसे काम करता है

आरोग्य सेतु ऐप क्या है और यह कैसे काम करता है

आरोग्य सेतु ऐप क्या है और यह कैसे काम करता है

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित करने के लिए हवाई यात्रा की और 3 मई तक लॉकडाउन के विस्तार की घोषणा की। संबोधन के दौरान प्रधान मंत्री ने आरोग्य सेतु आवेदन का भी उल्लेख किया और जोर दिया कि सभी नागरिकों को कोविद -19 के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए ऐप डाउनलोड करना चाहिए। यहां हम बताते हैं कि कैसे ऐप एक उपयोगकर्ता डेटा बेस बनाता है जो सूचनाओं का एक नेटवर्क तैयार करता है जो नागरिकों और सरकार को कोरोनावायरस के संभावित पीड़ितों के लिए सचेत कर सकता है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्र को संबोधित करने के लिए हवाई यात्रा की और 3 मई तक लॉकडाउन के विस्तार की घोषणा की। संबोधन के दौरान प्रधान मंत्री ने आरोग्य सेतु आवेदन का भी उल्लेख किया और जोर दिया कि सभी नागरिकों को कोविद -19 के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए ऐप डाउनलोड करना चाहिए। यहां हम बताते हैं कि कैसे ऐप एक उपयोगकर्ता डेटा बेस बनाता है जो सूचनाओं का एक नेटवर्क तैयार करता है जो नागरिकों और सरकार को कोरोनावायरस के संभावित पीड़ितों के लिए सचेत कर सकता है।

यह एप्लिकेशन Google के Play Store और Apple के ऐप स्टोर दोनों पर उपलब्ध है। यह उन लोगों को इंगित करने के लिए स्थान डेटा का उपयोग करता है जो किसी भी कोविद -19 सकारात्मक रोगी के साथ निकटता में आए हैं। आवेदन हर समय स्थान तक पहुंच के लिए अनुरोध करता है और डाउनलोड के बाद ब्लूटूथ का उपयोग करने के लिए भी कहता है।

यह एप्लिकेशन Google के Play Store और Apple के ऐप स्टोर दोनों पर उपलब्ध है। यह उन लोगों को इंगित करने के लिए स्थान डेटा का उपयोग करता है जो किसी भी कोविद -19 सकारात्मक रोगी के साथ निकटता में आए हैं। आवेदन हर समय स्थान तक पहुंच के लिए अनुरोध करता है और डाउनलोड के बाद ब्लूटूथ का उपयोग करने के लिए भी कहता है।

एक बार उपयोगकर्ता इन अनुमतियों को प्रदान करता है, तो ऐप कुछ बुनियादी जानकारी के लिए अनुरोध करता है जो उपयोगकर्ताओं के बारे में डेटा बनाने में मदद करेगा। जानकारी में उम्र, लिंग, नाम, स्वास्थ्य की स्थिति शामिल है और उन देशों के लिए भी पूछता है जो उपयोगकर्ता पिछले कुछ हफ्तों में रहे हैं। आवेदन यह भी पूछता है कि क्या उपयोगकर्ता पेशेवरों की छूट वाली श्रेणी में से किसी एक से संबंधित है। फिर यह पूछता है कि क्या उपयोगकर्ता जरूरत के समय मदद करने के लिए तैयार होगा।

अगले चरण में, एक आत्म-मूल्यांकन परीक्षण सामने रखा जाता है जहां उपयोगकर्ता से उनके वर्तमान स्वास्थ्य के बारे में पूछा जाता है और क्या वे कोविद -19 के लक्षणों में से कोई भी दिखा रहे हैं। उपयोगकर्ता को अपना यात्रा इतिहास भी घोषित करना होगा। यदि आप डॉक्टर हैं, तो एप्लिकेशन पूछेगा कि क्या आप कोविद -19 रोगियों के संपर्क में थे। उत्तरों के आधार पर, ऐप आगे का रास्ता सुझाएगा।

ऐप ब्लूटूथ रेंज को एक निकटता सेंसर के रूप में मानता है जिसके तहत उपयोगकर्ता किसी अन्य कोविद -19 पॉजिटिव रोगी से संक्रमित हो सकता है। जब उनमें स्थापित ऐप वाले दो स्मार्टफ़ोन एक-दूसरे के ब्लूटूथ रेंज में आते हैं, तो ऐप जानकारी का आदान-प्रदान करेगा। यदि उपयोगकर्ता में से एक सकारात्मक है, तो दूसरे व्यक्ति को संक्रमित होने की संभावना के बारे में सतर्क किया जाएगा। इन संभावित मामलों को तब सरकार को आगे के परीक्षण के लिए अधिसूचित किया जाता है।